Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी (2021)

Hello दोस्तो आपका FetusFawn.Com मे स्वागत आज हम पढ़ने वाले है Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी (2021)

क्या कभी आपने भगवान के चावल का थैला नाम सुना?

ये एक बहादुर योद्धा का नाम है जो जापान मे रेहेता था।

ये बोहोत दिलचस्प कहानी है की उसका नाम कैसे बदल गया।

मुझे आशा है की यह रोमांचक कहानी आपको पसंद आएगी।

आपके कीमती समय को बरबाद ना करते हुये चलिये शुरू करे Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी (2021)

Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

भगवान के चावल का थैला

काफी समय पहले जापान मे एक बहादुर योद्धा रेहेता था।

वो तवारा टोडा नाम से या भगवान का चावल का थैला नाम से जाना जाता था।

वुसका असली नाम फुजीवारा Hidesato था।

ये बोहोत दिलचस्प कहानी है की उसका नाम कैसे बदल गया।

एक दिन वो रोमांच के तलाश मे निकल पडा क्यूंकी वो एक योद्दा था और योद्धायोंकों बेकार रहना पसंद नहीं।

वुसने अपने दोनों तलवार रखलिया और अपनी इंद्रा धनुष जो वुस्से भी लंबी थी वुसे अपनी पीट पर बाँदलीया।

आखिर कार वो Seta-no-Karashi ब्रिड्ज पर पहुँच गया जो खूबसूरत Lake Biwa के ऊपर था।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

वो अचानक से रुक गया जैसेही वुसने देखा एक बड़ा serpent-dragon वुस ब्रिड्ज पर पड़ा हुआ है।

वुस dragon का शरीर बोहोत विशाल था और वो देवदार के पेड़ की तरह दिख रहा था।

वो पूरे ब्रिड्ज को कब्ज़ा किया हुआ था।

वुसका एक भारी पंजा ब्रिड्ज का आगेका हिस्सा कब्ज़ा किया हुआ था।

वुसकी विशाल पूंछ ब्रिड्ज का पिछला हिस्सा कब्ज़ा किया हुआ था।

अइसे लगरहा था की एक विशाल राक्षस सो रहा है।

वुसके सांस लेते ही वुसकी नाक से आग और धुआ बाहर निकल ने लगा।

पेहेले Hidesato अपने दरको काबू करने मे नाकामियाब रहा।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

अब इसके पास सिर्फ दो रास्ते है यातों पीछे मुड़कर वापस चला जाये या वुस dragon के ऊपर से आगे बढ़े।

उसने दूसरा रास्ता चुना क्यूंकी वो एक बहादुर योद्दा था।

वो अपने सारे दरोंकों भूलगाया और आगे बढ्ने लगा।

वो धीरेसे वुस dragon के बाजू से एक एक कदम आगे बढ्ने लगा।

अचानक से उसे लगा कोई वुसे बुला रहा है और वुसने पीछे मुड़कर देखा।

अचानक से वो बड़ा serpent-dragon गायब होगया और वुसकी जगह एक अजीब तरह से दिखने वाला इंसान प्रत्यक्ष होगया।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

वो आदमी ज़मीन पर झुका हुआ था और वुसके लाल रंग के लंबे बाल थे।

वुसके सर पर dragon के सर जैसा दिखने वाला ताज था।

वुसके कपड़े सागर और हरे रंग के थे अइसा लग रहाता वो मोतियोंसे बनाए गए है।

Hidesato ये देखकर हैरान रेह गया।

इतने कम समय मे dragon कहा गायब होगया?

क्या वो इस इंसान की तरह बादल गया?

आखिर यहा क्या चल रहा है?

जब वुसके मन मे ये सारे सवाल चल रहे थे वो इंसान Hidesato के पास आया।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

Hidesato ने पूछा, “क्या वो आप ही थे जिसने मुझे बुलाया?”

वुस इंसान ने जवाब दिया, “हाँ। वो मै ही था।”

“मुझे आपकी मदद चाहिए क्या आप मेरा काम कर सकते हो?”

Hidesato ने कहा, “अगर वुसको करनेकी शक्ती मेरे अंदर है तो मैं ज़रूर करूंगा।”

“लेकिन पेहेले मुझे ये बताइये की आखिर आप हो कोन?”

वुस इंसान ने जवाब दिया, “मैं इस झील का Dragon राजा हु। मेरा घर इस पुल के नीचे है।”

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

Hidesato ने पूछा, “आप मुझसे क्या करवाना चाहते हो?”

वुस इंसान ने जवाब दिया, “मै अपना जाने दुश्मन चालीसपद को जान से मारना चाहता हु। वो वुस पहाड़ के पीछे रेहेता है।”

Dragon राजा ने झील ने वुस पार जो पहाड़ है वुसकी तरफ इशारा किया।

Dragon राजा ने कहा,” मैं इस झील के पास बोहोत सलोनसे रेह रहा हु। मेरा बोहोत बड़ा परिवार है। मेरे बोहोत सारे बेटे और पोते है। कुछ दिनोंसे चालीसपद यहा आकर तबाही मचा रहा है।”

“हर दिन वो मेरे एक बेटे को उठाके लेजारहा है। मैं वुन की हिफाज़त नहीं कर पारहा हूँ। “

“अगर ये ऐसेही चलता रहा तो मैं अपने सारे बेटोंकों और पोतोंकों खोदूंगा।”

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

“आखिर कार मैंने तय किया की इंसानोंकी मदद मांगी जाए।”

“बोहोत दिनोंसे मैं इस पल पर लेटा हुआ था और ये इंतज़ार कर रहा था की कोई इंसान यहाँ आए और मेरी मदद करे।”

“मुझे एक बहादूर योद्दा की तलाश थी। इसीलिए मै अपना असली रुप serpent-dragon की शक्ल मे इस पुल पर लेटा हुआ था।”

“जो कोई भी इंसान इस पुल के पास आता था वो मुझसे दरकर भाग जाता था।”

“पेहेली बार मैंने ऐसे इंसान को देखा जो बिना डरे मेरे पास से गुज़र रहा है।”

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

“उसी वक्त मुझे पता चलगया तुम्ही वो बहादूर योद्दा हो जिसकी मुझे तलाश थी।”

“मैं आपको विनथी करता हूंकी आप मेरी मदद करे और वुस चालीसपद को जान से मारदें।”

“क्या आप मेरी मदद करोगे?”

इसे सुनकर Hidesato बोहोत मायूस हुआ और वुसे वादा किया की वो वुसकी मदद करेगा।

Hidesato ने वुस Dragon राजा से चालीसपद का पता पूछा ताकी वो चाहता था की येक ही बार मे वुस्पर हमला करदे।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

Dragon राजा ने कहाकी चालीसपद का घर मिकामी पहाड पर है लेकिन येही बेहतर होगा की जबतक वो इस झील के राज महल के पास आयेगा तब तक रुके रहे।

Dragon राजा ने Hidesato को अपने राज महल मे लेके गया।

जब Hidesato Dragon राजा के सात चल रहा था एक चमत्कार हुआ।

वुन को रास्ता देनेके लिए झील दो हिस्सो मे बट गयी और जब वो बाढ़ के पास से गुज़र रहेते वुन के कपड़े भी गीले नहीं हुये।

झील के नीचे राज महल सफ़ेद संगमरमर से बना हुआ था।

Hidesato ने अपनी ज़िंदगी मे इतना खूबसूरत महल नहीं देखा।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

वुसने इसके बरेमे सुना हुआ था की झील के नीचे समुद्री राजा का एक महल है।

वहांके सारे नौकर समुद्री खारी मछलियाँ है।

जब वो महल के पास पहुंचे बोहोत सारे खूब सूरत सुनहरी मछलियां, लाल कार्प राजा का इंतज़ार कर रहे थे।

खास कर वुसके लिए जो खाना पडोसा गया था वुसे देखकर Hidesato दंग रेहगया।

खाना कमल के पत्तों और फूलों का क्रिस्टलीकरण से बनाया गया था और चम्मच विरल आबनूस से बनाए गए थे।

जैसेही वो खानेके लिए बैठे अचानक से वुस महल के दरवाज़े खुल गए और दस खूबसूरत सुनहेरी मछलियां आकर नाचने लगे और वुन के पीछे से क्योटो और शमीसेन के साथ दस रेड कार्पेट संगीतकार आकर संगीत बजाने लगे।

इस तरह वो रात गुज़र गयी वुस नाच को देखकर और संगीत को सुनकर Hidesato अपने सारे गम भूल गया।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

जब वो रस पीरहा था वुसके हथमे जो ग्लास थी वो हिलने लगी वुसने देखा की सारा महल हिल रहा है।

Hidesato बालकनी के तरफ दोडा और वहाँ दो सबसे बड़े गेंद और जलती हुई आग पास और पास आते हुये देखा।

Dragon राजा डर से कांप ने लगा और चिल्लाने लगा, “चालीसपद, चालीसपद वो जलने वाली बड़ी गेंद वुसकी आखेँ है। वो अपने खानेके लिए आरहा है। वुसे जान से मरनेका समय आचुका है।”

Hidesato ने उस चालीसपद को देखा जिसका शरीर इस महल से उस पहाड़ तक फैला हुआ है।

उसकी आखोंकी रोशनी अइसे चमक रही है जैसे सारे समंदर मे दीपक तैर रहे है।

Hidesato के आँखों मे ज़रा सा डर भी नहीं दिखाई देरहा था।

Hidesato ने Dragon राजा को शांत करनेकी कोशिश की।

Hidesato ने कहा, “डरिए मत। मैं वादा करता हू मैं इस चालीसपद को खत्म करदूंगा। आप बस मेरा धनुष मुझे दीजिये।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

Dragon राजा ने वही किया जो Hidesato ने करनेको कहाथा।

Hidesato ने देखा तरकस मे सिर्फ तीन भान बचे हुये है।

Hidesato ने एक भान लिया वुसे धनुष मे रक्खा और चालीसपद के ओर निशाना लगाके छोड़ा।

वो भान सीधे वुस चालीसपद के दोनों आखोंके बीच मे जाके लगा।

वो भान अंदर घुसनेके बजाए वुसे लगकर अइसे नीचे गिरगाया जैसे वो किसी चट्टान से टकराया हो।

Hidesato ज़रा सा भी नहीं डरा और एक और बार Hidesato ने दूसरा भान लिया वुसे धनुष मे रक्खा और चालीसपद के ओर निशाना लगाके छोड़ा।

वो भान भी सीधे वुस चालीसपद के दोनों आखोंके बीच मे जाके लगा।

वो भान भी अंदर घुसनेके बजाए वुसे लगकर अइसे नीचे गिरगाया जैसे वो किसी चट्टान से टकराया हो।

Hidesato इस बार भी ज़रा सा भी नहीं डरा लेकिन Dragon राजा ये देखकर समज गया की Hidesato के भान वुस चालीसपद को मार नहीं सक्ते।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

Dragon राजा डरकर कांप ने लगा।

Hidesato ने देखा की अब वुसके पास सिर्फ एक ही भान बचा हुआ है।

अगर ये भी विफल होगया तो वो चालीसपद को कभी नहीं मार पाएगा।

वुसने झील के तरफ देखा।

जानलेवा जेहेरीले सांप सात बार चालीसपद को काट चुके है।

वो जल्द ही झील के तरफ आएंगे।

उस चालीसपद की आखोंकी रोशनी अइसे चमक रही है जैसे सारे समंदर मे दीपक तैर रहे है।

Hidesato को अचानक से याद आया की इंसानी लालाजल चालीसपद के लिए जानलेवा है।

Hidesato ने वुस आखरी भान के नोक को अपने मूह मे रखके निकाला।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

Hidesato ने आखरी भान वुस धनुष मे रक्खा और चालीसपद के ओर निशाना लगाके छोड़ा।

वो भान सीधे वुस चालीसपद के दोनों आखोंके बीच मे जाके लगा।

लेकिन इस बार वो भान सीधे वुस चालीसपद के दिमाग मे घुस गया।

फौरन वो चालीसपद का शरीर हिलना बंद करदीया।

वुसकी दोनों अखोंकी रोशनी अइसे बुझ गयी जैसे सूरज डूब गया हो।

अचानक आसमान मे बादल छागए और बिजलियाँ गरजने लगी।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

हवा चीक उठी। अइसे लग रहा था ये दुनिया खत्म होजाएगी।

वो महल हिलनेलगा और सब लोग मौत के डर से कांप ने लगे।

आखिर कार वो डरावनी रात खत्म हुयी और खूबसूरत सुबह शुरू होगाई।

चालीसपद खत्म होगया।

Dragon राजा ने Hidesato को अपने पास बुलाया।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

क्यूंकी अब चालीसपद मर चुका है और डरनेके लिए कुछ भी नहीं है।

सारे लोग खुशी से वुस महल से बाहर निकलने लगे।

Hidesato ने झील के तरफ इशारा किया चालीसपद की लाश झील मे तैर रही है।

वुसके खून से झील का सारा पानी लाल रंग मे बदल चुका है।

Dragon राजा की खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा।

Dragon राजा के परिवार ने ये एलान करदिया की Hidesato पूरे जापान का सबसे बहादुर योद्दा है।

एक और पकवान पकाया गया वो पेहेले सेभी ज़्यादा ज़बरदस्त था।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

उसके सामने सभी प्रकार की मछलियाँ रखी गईं, कच्ची, उबली, भुनी, मूंगा ट्रे और क्रिस्टल व्यंजनों में परोसी गईं।

Hidesato ने अपनी पूरी ज़िंदगी मे इतना स्वादिष्ट खाना नहीं खाया था।

फलोंका रस इतना स्वादिष्ट था की Hidesato ने अपनी पूरी ज़िंदगी मे इतना स्वादिष्ट रस नहीं पिया था।

सूरज पूरी तरह से चमकने लगा वुसकी किरणें झील पर पढ़के अईसे दिख रहे थे जैसे पूरी झील मे हीरे चमक रहे है।

वो महल रात से भी सुबह को हज़ार गुना ज़्यादा सुंदर दिख रहा है।

Dragon राजा ने Hidesato को निवेदन किया की और कुछ दिन वहा रुके लेकिन Hidesato ने कहा की वुसका जाना ज़रूरी है।

Dragon राजा ने Hidesato से कहा की वो जब चाहे तब आकर वुनसे मिल सकता है।

Hidesato के जाते वख्त Dragon राजा के परिवार वाले बोहोत दुखी हुये।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

उनहोने Hidesato को बोहोत सारे इनाम दिये क्यूंकी Hidesato ने वुस खतरनाक राक्षस से वुन को बचाया है।

Hidesato के लिए मचलियोंकि रेल इंसानोंकी रेल मे बदल गयी।

वो सारे लोग वुस कल्चर के कपड़े और सर पर dragon ताज पेहेने हुये थे ये दिखाने के लिए की वो Dragon राजा के सेवक है।

Dragon राजा ने Hidesato को जो इनाम दिये थे वो है:

सबसे पहले, एक बड़े कांस्य घंटी।
दूसरा, चावल का एक थैला।
तीसरा, रेशम का रोल।
चौथा, खाना पकाने का बर्तन।
पांचवां, एक घंटा।

Hidesato को ये सब लेजाना पसंद नहीं था लेकिन Dragon राजा की ज़िद की वजह से वो कुछ नहीं केह पाया।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

Dragon राजा ने खुद Hidesato को पुल के पास छोड़ा।

बोहोत सारे भान, इनाम और शुभकामनाओंके सात Hidesato अपने घर के तरफ निकल पड़ा।

Hidesato के ना अनेकी वजह से वुसके घर वाले वुसकी चिंता करने लगे।

वुन हे लगा कल रात के तूफान की वजह से Hidesato ने किसी अशरम मे रात गुज़ारी होगी।

जैसेही वुनहे पता चला Hidesato वापस आचुका है Hidesato के घर वाले वुस्से मिलने निकल पड़े।

वुन होने Hidesato को जब देखा वो हैरान रेह गए।

वुनहे ये नहीं पता चला की Hidesato सात इतने लोग ब्यानर लेके क्यू आरहे है।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

जब Dragon राजा के सेवक सारे इनाम नीचे रखकर गायब होगाए तब Hidesato ने अपने घर वालोंसे बात की।

जो कुछ भी वुस राजमहल पर हुआ था वो सब कुछ Hidesato ने वुन को बताया।

जल्द ही वुनहे ये पता चला की Dragon राजा ने जो भी इनाम दिये थे वुन मे जादूई शकतिया है।

Hidesato को वुन इनामोंकी कोई ज़रूरत नहीं थी।

उन्होंने इसे पास के एक मंदिर में प्रस्तुत किया, जहां इसे लटका दिया गया था, ताकि आसपास के परिवेश में दिन का समय बढ़ सके।

चावल का एक ही थैला, पूरे भोजन के लिए घोड़े और उसके परिवार ने दिन से चाहे जितना भी लिया हो, कभी कम नहीं हुआ – थैले में आपूर्ति अटूट थी।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

रेशम का रोल कभी कम नहीं हुआ है,

लेकिन यह लंबे समय से नए साल में अदालत जाने के लिए,

योद्धा के लिए, नए कपड़े बनाने के लिए टुकड़ों में काट दिया गया है।

खाना पकाने का बर्तन भी अद्भुत है।

इसमें जो कुछ भी डाला जाता है, वह बिना फायरिंग के स्वादिष्ट रूप से पक जाता है।

Hidesato के भाग्य की प्रसिद्धि इतनी व्यापक रूप से फैल गई कि वह इतना अमीर और अमीर हो गया कि उसे अब चावल या रेशम या आग्नेयास्त्रों पर पैसा खर्च नहीं करना पड़ा।

और उसे अब भगवान के चावल का थैला कहा जाता है।

Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी
Best Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी

नाम – मै लार्ड ब्याग आफ रैस

लेखक – येई थियोडोरा ओज़ाकिक

पुस्तक – जापानी फेयरी टेल्स

आपका अमूल्य समय देनेके लिए बोहोत बोहोत शुक्रिया।

अगर आपको ये Pariyon Ki Kahani Hindi Me परियों की कहानी पसंद आयी तो कामेंट करके ज़रूर बताए।

इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेर करके आप मेरा मनोबल बढ़ा सकतों हो।

धन्यवाद।

Leave a Comment

error: Content is protected !!