Best Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे (2021)

हेल्लों दोस्तो आपका FetusFawn.Com मे स्वागत है आज हम पढ़ ने वाले है Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे

क्या आपको संवेदनशील बंदर और भालू की कहानी पता है?

इस कहानी का सार यह है की एक बंदर कसाई से अपनी जान कैसे बचापाया?

मुझे आशा है की यह रोमांचक कहानी आपको पसंद आएगी।

आपके कीमती समय को बरबाद ना करते हुये चलिये शुरू करे Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे

Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे

संवेदनशील बंदर और भालू

बहुत समय पहले जापान के शिनशिन प्रांत में एक बंदर और एक आदमी रहते थे।

वह जनता को बंदर के स्टंट दिखाके पैसे कमाता था और वह उस पैसे पर जीवन गुज़ार ता था ।

एक शाम वह आदमी बहुत गुस्से में घर आया और अपनी पत्नी से कहा कि अगली सुबह वह कसाई को बुलाये।

पत्नी ने गुस्से से अपने पति से पूछा:

“तुम कसाई को क्यों बुलाना चाहते हो?”

“उस बंदर को सर्कस में ले जाना अब बेकार है। वह बहुत बूढ़ा होगया है और वह सारे स्टंट भूल गया है।”

“मैंने अपनी छड़ी को जमीन पर मारा जैसे मैं अक्सर करता हूं लेकिन वह ठीक से नृत्य नहीं कर पाया।”

“अब मैं उसे कसाई को बेचुँगा और पैसे कमाऊंगा। वह इसके अलावा और किसी काम का नहीं है।”

वह औरतको उस बेचारे छोटे जानवर पर तरस आया।

उसने अपने पति से बंदर को छोड़ने की विंती की लेकिन उसकी कोशिश असफल रही।

Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi
Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi

वह आदमी दृढ़ निश्चय करलिया था की उस बंदर को कसाई को बेचना है।

वह बंदर उस समय बगल के कमरे मे था और उसने यह बातचीत सारी सुनी।

उसे तुरंत समझ आ गया था कि उसे मार दिया जाएगा।

वह अपने आप में सोचा:

“मेरा मालिक वास्तव में एक अनागरिक है! मैंने कई वर्षों तक ईमानदारी से उसकी सेवा की थी।”

“वह मुझे शांति से अपने अंतिम दिन बिताने के लिए छुट्टी देने के बजाय कसाई द्वारा मुझे मारना चाहता है।”

“यह दुःख मुझे ही क्यों आया! मुझे क्या करना चाहिए। आह! मेरे पास एक शानदार प्लान है!”

“मैं एक भालू को जानता हूं जो पास के जंगल में रहता है। मैं अक्सर इसकी बुद्धिमत्ता के बारे में सुन चुका हूं।”

“अगर मैं उसके पास जाऊं और उसे अपनी समस्या बताऊं तो वह मुझे एक अच्छी सलाह देगा। मैं अभी जाकर उस्से मिलूंगा।”

Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi
Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi

बंदर के पास अब ज्यादा समय नहीं है।

बंदर घर से निकला और भालू की तलाश में जल्द से जल्द जंगल में भाग गया।

भालू घर में ही था।

बंदर ने अपनी दुखदायक कहानी सुनानी शुरू की।

“श्रीमान भालू मैंने आपके अद्भुत ज्ञान के बारे में सुना है। मैं बहुत परेशानी में हूँ। केवल आप ही मेरी मदद कर सकते हैं। मैं अपने मालिक की सेवा में बूढ़ा हो गया हूँ।”

“वह मुझे एक कसाई को बेचना चाहता है क्योंकि मैं ठीक से नृत्य नहीं कर पारहा हूँ। आप मुझे क्या करने की सलाह देंगे? मुझे पता है कि आप कितने होशियार हो!”

भालू उसकी तारीफ सुनकर खुश हुआ और उसने बंदर की मदद करने का फैसला किया।

“क्या तुम्हारे मालिक के बच्चे हैं?”

“ओह हां।” बंदर ने कहा “उसका एक बेटा है।”

“मैं कल सुबह आऊंगा और मैं अपने अवसर का उपयोग करके बच्चे को लेके भाग जाऊंगा।”

Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi
Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi

“आगे क्या होगा?” बंदर ने पूछा।

“इससे पहले कि तुम्हारे मालिक और उसकी पत्नी सोचें कि क्या करना है, तुम मेरे पीछे दौड़ो और बच्चे को उसके माता-पिता के पास सुरक्षित ले जाओ।”

“इसे देखके वो तुम्हें कसाई को बेचने का फैसला बदल लेंगे।”

बंदर ने भालू को कई बार धन्यवाद दिया और घर चला गया।

जैसा आपने सोचा अगले दिन के बारे में सोचेंके उस रात बंदर को नींद नहीं आई।

इसका जीवन इस बात पर निर्भर करता है कि भालू की योजना सफल होती है या नहीं।

वह बेसब्री से इंतजार करने लगा की अगले दिन क्या होगा।

अगले दिन सुबह होते ही उसके मालिक की पत्नी ने दरवाजा खोल दिया।

सब कुछ ठीक वैसा ही हुआ जैसा भालू ने योजना बनाई थी।

माँ ने हमेशा की तरह अपने बच्चे को चौकठ के पास रखा और घर की साफ-सफाई करके नाश्ता बनाने रसोई में चली गई।

Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi
Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi

सुबह की धूप में बच्चा खुशी से हंस पड़ा।

कालीन पर कूद ने लगा।

अचानक शोर हुआ और बच्चा रोने लगा।

उसकी माँ रसोई से बाहर भागी।

भालू बच्चे को लेके गेट से बाहर जा रहा था।

वह चिल्लाई और अपने पति के कमरे में चली गई जहां वह सोरहा था।

वह धीरे से उठा और आँखें रगड़ ने लगा।

उसने अपनी पत्नी से पूछा कि वह चिल्ला क्यों रही है।

उसकी पत्नी ने सब कुछ बताया।

दोनों गेट के बाहर दौड़ पड़े।

भालू बहुत दूर था लेकिन उन्होंने बंदर को चोर के पीछे भागते देखा।

Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi
Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi

आदमी और उसकी पत्नी दोनों ने विचित्र बंदर के बहादुर व्यवहार की प्रशंसा की।

उनकी कृतज्ञता की कोई सीमा नहीं थी जब वफादार बंदर ने बच्चे को सुरक्षित रूप से लाया और उसे उनकी बाहों में दे दिया।

पत्नी ने कहा, “आप जिस बंदर को मारना चाहते थे अगर वह यहां नहीं होता तो हम अपने बच्चे को खो देंते।”

“सही कहा।” उस आदमी ने कहा जब वह बच्चे को घर ले जा रहा था।

“कसाई के आने पर तुम उसे वापस भेज सकती हो।”

कसाई के आने पर उन्होंने उसे वापस भेज दिया।

बंदर उनका पालतू जानवर बन गया और बाकी दिन शांति से गुज़ारे।

उसके मालिक ने उसे फिर कभी नहीं मारा।

Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi
Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे Monkey Story In Hindi

नाम – दि सगेशियस मंकी अंड दि बोर

लेखक – येई थियोडोरा ओज़ाकिक

पुस्तक – जापानी फेयरी टेल्स

आपका अमूल्य समय देनेके लिए बोहोत बोहोत शुक्रिया।

अगर आपको ये Monkey Story In Hindi बंदर की कहानी हिंदी मे पसंद आयी तो कामेंट करके ज़रूर बताए।

इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेर करके आप मेरा मनोबल बढ़ा सकते हो।

धन्यवाद।

Leave a Comment

error: Content is protected !!